Kashmir Files Director Ashok Pandit On Target Killing In Valley Ann

0

Jammu Kashmir Target Killing: जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में इन दिनों आतंकियों ने दहशत फैलाने का एक नया तरीका अपनाया हुआ है. इन दिनों वो जम्मू कश्मीर में आम नागरिकों (Common Citizens) को अपनी गोली का निशाना बना रहे हैं. इन टारगेट किलिंग (Target Killing) के कारण कश्मीर में इन दिनों स्थानीय नागरिकों में भय व्याप्त है तो वहीं अपनी जान माल की रक्षा करने के लिए कश्मीर में काम कर रहे प्रवासी मजदूरों ने पलायन का रास्ता चुना है. इसको लेकर एबीपी न्यूज ने फिल्म निर्माता और एक्टिविस्ट अशोक पंडित से बातचीत की.  

कश्मीर में टारगेट किलिंग पर ये बोले अशोक पंडित
अशोक पंडित ने कहा कि कश्मीरी हिंदुओं को लेकर सरकार हमारा इस्तेमाल क्यों कर रही है ? सरकार, कश्मीरी हिंदुओं का रिलोकेशन करे. नहीं हुए तो सामूहिक हत्या होगी. पलायन करने के लिए हालात पैदा किए जा रहे है. कश्मीर हिंदुओं के लिए असुरक्षित है. लोग पिस्टल लेकर घूम रहे है. सिस्टम फेल हो चुका है. माहौल डरावना है.

क्या है कश्मीर का हल ?
साल डेढ़ साल के लिए कश्मीरी हिंदुओं का रिलोकेशन करें. कश्मीर के हालात दुनिया से छिपे नही है. पीएम खुद कहते है, जान है तो जहाँ है. जान है तो नौकरी करेंगे. गृहमंत्री रिलोकेशन का निर्णय ले. मनोज सिन्हा को अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए. मजबूत LG वहां चाहिए जो कश्मीर को समझता है. आर्मी बैकग्राउंड का व्यक्ति चाहिए. जगमोहन जैसा व्यक्ति चाहिए जो कश्मीर को समझता है.

सरकार नाकाम हुई है ?
सरकार हिंदुओं को बचाने में विफल हुई है. विपक्ष को बोलने का हक नही है. महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, गांधी परिवार को बोलने का हक नही क्यों की उन्होंने आतंक का बीज कश्मीर में बोया. सरकार सुरक्षा में विफल हुई पर आतंक खात्मे का उद्देश्य है. कश्मीर को नया कश्मीर बनाने का लक्ष्य इस सरकार में है.

सवाल : कश्मीर फाइल से फैली आग ?
मांझी ने खुद नहीं देखी होगी फिल्म. 1990 ने कौन सी फिल्म बनी थी? हमारे कत्लेआम के समय कौन सी फिल्म बनी थी. क्या आप इतने कमजोर है, फिल्म से ऐसा होगा? उनकी तकलीफ है की फिल्म ने बेनकाब कर दिया.

क्या कश्मीरी हिंदुओं को पक्ष नहीं बनाना चाहिए ?
कश्मीरी मुद्दों को लेकर कभी भी कश्मीरी हिंदुओं को साथ नहीं लिया गया. कश्मीर के पॉलिटिक्स को कश्मीरी जानता है. कश्मीरी नेताओं को कश्मीर पंडितों से डर लगता है.

Amit Shah Meeting: जम्मू-कश्मीर में टारगेट किलिंग की घटनाओं के बीच अमित शाह की हाई लेवल बैठक जारी

Visakhapatnam Gas Leak: विशाखापत्तनम में गैस रिसाव, 30 कर्मचारी अस्पताल में भर्ती, 4 मौके पर हुए बेहोश

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.